Joram Movie Review: क्या एक पिता अपनी नवजात बेटी को अतीत के राक्षसों से बचा पायेगा!

कभी न ख़तम होने वाली खोज के बीच, एक लाचार पिता अपनी छोटी बेटी के साथ अंजान यात्रा पर निकल जाता है। उनका जीवन अंधेरे से घिर जाता है क्योंकि वे जीवित रहने की दिशा में एक विश्वासघाती मार्ग पर आगे बढ़ते हैं। यह जोरम मूवी की कहानी है, जो देवाशीष मखीजा द्वारा लिखी गई है है। यह फिल्म एक दिल दहला देने वाली सर्वाइवल थ्रिलर है, जिसमे लोकप्रिय अभिनेता मनोज बाजपेयी जी ने अभिनय किया है।

Joram Movie Story

फिल्म की कहानी बेहद ही दिलचस्प और दिल दहला देने वाली है, क्यूंकि फिल्म में ‘दसरू’ नामक एक ऐसा व्यक्ति होता है जो अपने अतीत के भूतों से घिरा होता है। वह अपनी बहुमूल्य छोटी बेटी के साथ अपने घर से भागने के लिए मजबूर होता है, क्यंकि अतीत के भूत उसका निरंतर पीछा करते है। दसरू अपनी और अपनी बेटी की जान बचाने के लिए घर से भाग जाता है और अपनी अंदरूनी ताकतों का इस्तेमाल करता है।

जैसे-जैसे दसरू के चारों ओर जाल कसता जाता है, उसे अपने अतीत के राक्षसों का सामना करना पड़ता है और साथ ही उसे अपनी बेटी की रक्षा करनी होती है जो उसके लिए सबसे ज्यादा मायने रखती है। उनकी यात्रा आसान नहीं होती है उन्हें, अपने अतीत के राक्षसों के साथ-साथ आने वाली चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।

Joram Trailer Review

जोरम का ट्रेलर फिल्म की सार को कुशलता से दर्शाता है, और फिल्म के शांत दृश्ये और दिल को थाम देने वाले एक्शन को एक साथ जोड़ता है। ट्रेलर में हमे दसरू की झलक दिखाई देती है जो अपने अतीत के राक्षसों का सामना करते हुए और अपनी बेटी की रक्षा करते हुए दिखाई देता है।

ट्रेलर, फिल्म के सार, एक पिता और उसके बच्चे के बीच के स्थायी बंधन को प्रभावी ढंग से उजागर करता है। ट्रेलर दर्शको की उत्शुकता को उजागर करता है और उन्हे प्रशंसा की भावना से भर देता है। दसरू के जीवित रहने के संघर्ष और आगे आने वाले उतार-चढ़ाव को देखने के लिए उत्सुक हो जाइए।

Where to watch Joram

जोरम (2023) 8 दिसंबर, 2023 को दुनिया भर में रिलीज होने वाली है। हालांकि यह अभी तक स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध नहीं है, लेकिन भविष्य में स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म पर रिलीज की जाएगी।

यह मूवी हमे क्यों देखनी चाहिए!

जोराम एक रहश्यमय और सर्वाइवल थ्रिलर फिल्म है, जो एक दिलचस्प कहानी, मनोज बाजपेयी के शक्तिशाली प्रदर्शन और सस्पेंस से भरपूर है। फिल्म में एक पिता और उसके बच्चे के बीच अटूट बंधन के विषय गहराई से गूंजते है।

यह एक ऐसी कहानी है जो क्रेडिट रोल के बाद भी लंबे समय तक दर्शकों के साथ रहेगी। जोराम (2023) मानवीय भावनाओं की गहराई और मानवीय भावना के लचीलेपन को पकड़ने के लिए फिल्म निर्माण की शक्ति का एक प्रमाण है।

आसा करता हूँ यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और आर्टिकल में दी गई जानकारी आपके लिए उपयोगी रही होगी। यदि आपके कोई अन्य प्रश्न हों तो कृपया जरूर बताएगा।

इस लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद

Posted by Ayush Rana

यह भी पढ़ें:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top